Saturday, April 22, 2017

बदलाव की प्रक्रिया की धुरी बन रहे हैं स्मार्ट फोन

इंटरनेट  के जमाने में देश में  बदलाव की प्रक्रिया की धुरी बन रहे हैं स्मार्ट फोन|भारत में ऑनलाइन शॉपिंग को बढ़ावा देने में इंटरनेट आधारित स्मार्टफोन की बड़ी भूमिका है,खरीद प्रक्रिया का यह बदलाव सबसे ज्यादा स्मार्टफोन की खरीद को प्रभावित कर रहा है|मार्केट इंटेलिजेंस फर्म काउंटर प्वाईंट रिसर्च की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पिछले साल हर तीन में से एक स्मार्ट फोन की खरीद ऑनलाइन की गयी,जिसमें नब्बे प्रतिशत फोन ऑनलाईन शौपिंग प्लेटफार्म फ्लिप्कार्ट ,स्नेपडील और अमेजन द्वारा बेचे गये|कुल बेचे गए स्मार्टफोन में से साढ़े सैतालीस प्रतिशत अकेले फ्लिप्कार्ट कम्पनी द्वारा बेचे गये |पिछले साल की चौथी तिमाही (अक्तूबर –दिसम्बर ) में भारत अमेरिका को पिछाड कर दुनिया में  चीन के बाद दूसरे नम्बर पर  सबसे ज्यादा स्मार्टफोन धारकों का देश बन चुका है पर भारत के स्मार्ट फोन बाजार में अभी भी असीमित संभावनाएं हैं क्योंकि भारत में अभी दस मोबाईल फोन में से मात्र चार ही स्मार्ट फोन हैं और यह आंकड़ा विकसित देशों के स्मार्टफोन धारकों के मुकाबले काफी कम है |स्मार्ट फोन की बढ़ोत्तरी ऑनलाईन शौपिंग को बढ़ावा दे रही है इस ओनलाईन खरीद के कारोबार  में मोबाईल फोन का एक बड़ा हिस्सा है |ऑनलाईन विक्रेता नए मोबाईल मॉडल पर जहाँ ज्यादा डिस्काउंट देते हैं वहीं अनेक ऑफर के साथ खरीददारों को भी लुभाते हैं |यदि आप फोन से नहीं संतुष्ट हैं तो उसे आसानी से एक मेल या फोन काल पर एक माह के भीतर आसानी से लौटा भी सकते हैं जिसमें पैसे के नुक्सान होने की संभावना भी नहीं रहती है|शोध संस्था नाइंटीवन मोबाईल्स डॉट कॉम के एक शोध में यह बात सामने आयी है कि ऑनलाईन मोबाईल की खरीद पर कीमत  परम्परागत मोबाईल दुकानों के मुकाबले औसत रूप से पांच प्रतिशत कम रहती है| वहीं मोबाईल दुकानों पर वापस करना खासा सिरदर्द का काम रहता है पैसा वापस नहीं मिलेगा आपको तुरंत कोई दूसरा मोबाईल खरीदना पड़ेगा |परम्परागत दुकानों में ज्यादा विकल्प नहीं रहते हैं जबकि ओनलाईन खरीद में क्रेता के पास असीमित विकल्प रहते हैं,यदि आप वहां से खरीदी हुई चीज वापस भी कर रहे हैं तो भी आपका पैसा सुरक्षित है आप या तो पैसा वापस ले सकते हैं या उस ऑनलाईन स्टोर पर कोई भी चीज उसी पैसे में कभी भी खरीद सकते हैं |ऑनलाईन स्टोर में परम्परागत दुकानों के मुकाबले वितरण लागत में काफी कमी हो जाती है ये एक बड़ा कारण है कि लोग मोबाईल फोन ऑनलाइन खरीदना पसंद कर रहे हैं |यह एक द्वीपक्षीय प्रक्रिया ई कॉमर्स जहाँ स्मार्ट फोन की ऑनलाइन बिक्री बढ़ा रहा है वहीं स्मार्ट फोन की बढ़ती संख्या ई कॉमर्स के कारोबार को बढ़ा रही है | तस्वीर का दूसरा रुख भी है कम्पनियों के लाख दावों के बावजूद ऐसे लोगों की भी काफी संख्या है जिन लोगों ने ऑनलाईन खराब इलेक्ट्रॉनिक गैजेट खरीदा और उसे वापस करने में उन्हें खासी परेशानी और मानसिक संत्रास झेलना पडा |दुकान से खरीदी चीजों को तुरंत वापस कर उसके बदले दूसरी चीजें प्राप्त की जा सकती है|हमें इस तथ्य को भी नहीं भूलना चाहिए कि यहाँ इंटरनेट की आधारभूत संरचना विकसित देशों के मुकाबले काफी पिछड़ी है ग्रामीण इलाकों में स्मार्ट फोन का अधिकतर  इस्तेमाल सिर्फ फ़िल्में देखने और गाने सुनने में ही किया जा रहा है|इन इलाकों में स्मार्ट फोन का स्मार्ट इस्तेमाल तब ही हो पायेगा जब समुचित इंटरनेट की उपलब्धता मिलेगी |
नवोदय टाईम्स में 22/04/17 को प्रकाशित लेख 

2 comments:

HARSHVARDHAN said...

आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन मन्ना डे और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

Digamber Naswa said...

ये सही है कुछ परेशानियां हैं अगर मोबाइल ख़राब हो जाये पर अधिकतर स्मार्ट फोन एक कामयाब अन्वेषण है इस युग के बदलाव के लिए ...

पसंद आया हो तो