Tuesday, April 8, 2014

स्मार्टनेस का नया निशान

आपके शरीर पर कहीं कोई तिल है क्या?अरे तिल बोले तो वो ब्लैक मार्क जो आपकी ब्यूटी को बढा देता है.यानि हर ब्लैक चीज ख़राब नहीं होती.अब इलेक्शन और पौलीटिक्स जैसे सीरियस इश्यू को छोड़कर मैं कहाँ ब्यूटी मार्क जैसी चीजों में पड़ा हूँ.आपकी सोच सही है तो चलिए इलेक्शन की बात करते हैं.आप सबने कभी न कभी वोट जरुर दिया होगा और अगर न दिया हो तो इस बार वोट देने जरुर जाइएगा.हाँ हाँ मुझे पता है कि मैं न तो कोई सेलीब्रिटी हूँ न कोई बड़ा प्लेयर जिसकी बात आप मानें,मैं तो ये रिक्वेस्ट महज इसलिए कर रहा हूँ जिससे आगे जो मैं कहना चाह रहा हूँ वो आप समझ सकें.वैसे आपके चेहरे होंट या चेहरे पर कहीं ऐसी जगह वो प्यारा सा काला तिल है तो आप बड़ा प्राउड फील करते हैं और उस ऊपर वाले को शुक्रिया कहना नहीं भूलते जिसने आपको जीवन दिया,पर वो देश जिसने आपको उस जीवन के अलावा बहुत सी चीजें दी हैं कभी उसको थैंक यू कहने का मन नहीं करता उफ़ मैं फिर भटक गया हाँ तो मैं वोट की बात कर रहा था तो वोट देते वक्त हम सबकी उंगली पर एक निशान लगाया जाता है जो इस बात की तस्दीक करता है कि हमने अपना वोट दे दिया है मतलब स्याही की तरह का एक केमिकल,याद आया आपको हाँ वही,जब आप वोट देते हैं तब उसका रंग नीला होता है और फिर जैसे जैसे दिन बीतते जाते हैं वो काला हो जाता है.अब ये कौन सी बड़ी बात है होता होगा वैसे इससे आपको फर्क क्यूँ पड़े.फर्क तो पड़ना चाहिए क्यूंकि इस दुनिया में कुछ भी यूँ ही नहीं होता अच्छा छोडिये इस बात को ये बताइए कि आप अपना घर और अपने शरीर को साफ़ रखते हैं फिर रोज रोज क्यूँ नहाते हैं या घर में झाड़ू पोंछा क्यूँ करते हैं,इसलिए न कि गंदगी जमें नहीं रोज जब हम नहाते हैं या घर साफ़ करते हैं तो न तो कपडे काले होते हैं न शरीर पर लगने वाले साबुन का झाग.घर और शरीर का तो आपने सोच लिया पर देश के बारे में कब सोचेंगे. क्यूंकि कोई भी चीज हमेशा के लिए साफ़ नहीं रह सकती है गंदगी जीवन का हिस्सा है पर उसे साफ़ किया जा सकता है .इससे ये  प्रूव हुआ कि अगर सफाई नहीं होगी तो गंदगी खेल कर जायेगी अब जब आप सफाई करते हैं तो क्या होता भाई थोड़े बहुत तो हम भी गंदे होते हैं,कपडे गंदे होते हैं और शरीर भी.गंदे शरीर पर जब हम साबुन लगाते हैं तो पहले उसका झाग भी काला होता जैसे जैसे शरीर साफ़ होता जाता है.झाग भी सफ़ेद होता जाता है.कन्फ्यूज मत होइए वोट देते वक्त आपकी उंगली पर लगने वाला वो छोटा सा काला निशान बहुत कुछ कहता है पर हम समझ नहीं पाते.पहली बात गंदगी की सफाई,गंदगी में उतर कर ही की जा सकती है यनि अगर आपको लगता है कि देश की पौलीटिक्स गंदी हो रही है.गलत लोग चुनाव जीत कर आ रहे हैं तो इसमें आपको उतरना ही पड़ेगा.इसका सिर्फ ये मतलब नहीं कि आप सबकुछ छोड़कर राजनीति में कूद पड़ें.आप अपना करियर बनायें पर देश की  गंदगी को लगातार साफ़ करते रहने के लिए  जब भी वोट देने का मौका मिले अपने वोट का इस्तेमाल जरुर करें अगर आप वोट नहीं देंगे तो गंदगी जमा होती रहेगी.मैं आपसे क्रांति करने को नहीं कह रहा आपको बस अपनी उस छोटी सी जिम्मेदारी को निभाना है जिसकी देश हर पांच साल में आपसे उम्मीद करता है .वोट देना है तो देना है जरा सोचिये वो चुनाव कैसा होगा जब शत प्रतिशत वोटिंग होगी.अब एक्सक्यूज मत दीजिये जब आप पासपोर्ट से लेकर पिक्चर के टिकट तक हर जगह लाइन लग सकते हैं तो वोट देने के लिए क्यूँ नहीं.जब वोट देंगे तो आपकी उंगली पर लगा वो ब्लैक मार्क आपको इस बात का एहसास कराएगा कि देश को बेहतर बनाने और देश की सफाई करने में आपने अपना कंट्रीब्यूशन दिया है.अब आप समझ रहे होंगे मैंने शुरुवात में अपनी बात एक छोटे से काले तिल से अपनी बात क्यूँ शुरू की थी.जी वो छोटा सा काला तिल आपको स्मार्ट बना देता है पर स्मार्टनेस फिजीकल एपीरियंस के अलावा एक्शन पर भी डीपेंड करती है तो एक ब्यूटी मार्क ऊपर वाला देता है वो किसे मिलेगा किसे नहीं कोई नहीं जानता पर ये ब्यूटी मार्क हमें देश देता है पर हम उस पर हमें फख्र नहीं होता तो इस बार के इलेक्शन इस वोटिंग इंक के इस ब्यूटी मार्क को फैशन स्टेटमेंट बनाइये खुद भी वोट दीजिये और दूसरों को भी दिलवाइये .
आई नेक्स्ट में 08/04/14 को प्रकाशित 

2 comments:

RJ Rashi said...

Dr. Kumar vishwas jo ki jane mane hindi ke kavi hai ye bhi is kale nishan pr garv krte hai hum sabko vote krna chahiye ek yahi mauka hai jab hum gandgi saaf kr sakte hai clean india do voting full suport 100% results

RJ Rashi said...

Ye humari duty hai ki hum vote kr
- Rajsi swaroop

पसंद आया हो तो